25 लाख की लूट का खुलासा

बैंक का ऑफिस ब्वाॅय ही बदमाशों को दे रहा था व्यापारी की जानकारी

पुलिस की गिरफ्त में 6 आरोपी। तीन अब भी फरार

चित्तौड़गढ़

चित्तौड़गढ़ में 29 दिसंबर को हुई 25 लाख की लूट मामले में पुलिस ने खुलासा कर दिया है। इसमें बैंक के ऑफिस ब्वाॅय समेत 6 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। साथ ही 18.5 लाख रुपए भी बरामद कर लिए गए हैं। गिरफ्तार किए गए तीन आरोपियों पर पहले से लूट और हत्या के मामले दर्ज हैं। जांच में सामने आया कि आरोपियों ने पहले भी व्यापारी को लूटने की कोशिश की थी, लेकिन कामयाब नहीं हो पाए थे।

गौरतलब है कि 29 दिसंबर को दिन में करीब 3.30 बजे चित्तौड़गढ़ के चंद्रलोक टॉकीज के पीछे स्थित एक्सिस बैंक से अनाज मंडी व्यापारी बसंतीलाल 25 लाख नकद लेकर घर के लिए निकले थे। जिन्हें घर से कुछ ही दूरी पर कैलाश नगर में तीन व्यक्तियों ने रोककर लूट लिया था। बदमाश मोटरसाइकिल सवार थे।

पुलिस ने बताया कि मामले की जांच के लिए एक स्पेशल टीम बनाई गई। जांच के दौरान पुलिस की टीम को बैंक के ऑफिस ब्वाॅय की हरकतें संदिग्ध लगी। साथ ही कुछ आदतन अपराधियों की भी धरपकड़ की गई। जिसके बाद पूरे मामले का खुलासा हुआ। जिसमें ऑफिस ब्वाॅय हेमेंद्र सिंह (40), सूरज श्रीचंदानी (24), संजय उर्फ सन्नी (19), राजकुमार(50), मंगल (30) और सुनील (25) को गिरफ्तार किया गया। वहीं, साहिल बैरागी, प्रभु सिंह और नरेंद्र फरार हैं।

पुलिस ने 18.5 लाख रुपए बरामद किए।
पुलिस ने 18.5 लाख रुपए बरामद किए।

वारदात का तरीका
जांच में सामने आया कि व्यापारी बसंतीलाल द्वारा आए दिन बैंक से पैसे निकाले जाते थे। साहिल बैरागी जो पहले लूट के मामले में आरोपी है। उसने बसंतीलाल के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए अपने दोस्त संजय के जरिए बैंक के ऑफिस ब्वाॅय हेमेंद्र से संपर्क किया। संजय ने अपने दोस्त सूरज श्रीचंदानी के जरिए ऑफिस ब्वाॅय हेमेंद्र को व्यापारी द्वारा बैंक से पैसे निकालने की जानकारी देने के लिए कहा गया।

इस दौरान 28 दिसंबर को बसंतीलाल बैंक से 30 लाख रुपए निकालकर घर के लिए निकले। जिसकी जानकारी हेमेंद्र ने साहिल को दी, लेकिन आरोपी लूट को अंजाम देने में कामयाब नहीं हो सके। इसके अगले दिन बसंतीलाल फिर 25 लाख रुपए बैंक से निकालकर घर के लिए रवाना हुए। इस दौरान हेमेंद्र की सूचना पर आरोपी साहिल, प्रभु और नरेंद्र बैंक के पास पहुंचे। व्यापारी का पीछा कर लूट को अंजाम दिया।

तीन पर पहले से लूट और हत्या के मामले दर्ज

सभी 9 आरोपियों में से साहिल बैरवा पर पहले से लड़ाई झगड़े और लूट के 3 मामले दर्ज हैं। वहीं राजकुमार पर 12 और प्रभु सिंह पर 6 केस दर्ज हैं।