उच्च शिक्षा में सुधार करना ही पहली प्राथमिकता-भाटी

0
146
भाटी

उच्च शिक्षा मंत्री भंवरसिंह भाटी ने भाटी ने बताया राज्य सरकार का विजन

बीकानेर। उच्च शिक्षा मंत्री भंवरसिंह भाटी ने कहा कि युवाओं को गुणवत्ता युक्त व कौशल परक शिक्षा देने के लिए राज्य सरकार प्राथमिकता से कार्य करेगी।

आज पत्रकारों से बात करते हुए भाटी ने कहा कि राज्य में विद्यार्थियों के लिए रोजगारोन्मुखी कोर्स शुरू किए जाएंगे । शैक्षणिक संस्थानों में ऐसे कोर्स शुरू किए जाएगें, जिनमें युवा वर्ग को कॉरपोरेट संस्थानों में नौकरी के अवसर मिल सकें। कॉलेजों में विभिन्न समस्याओं के निस्तारण के लिए कार्ययोजना बनाकर कार्य किया जाएगा। इस बात पर विशेष ध्यान दिया जाएगा कि कॉलेजों में नियमित कक्षाएं लगे, कोर्स समय पर पूर्ण हो।

उच्च शिक्षा मंत्री ने कहा कि अम्बेडकर विधि विश्वविद्यालय एवं हरिदेव जोशी पत्रकारिता विश्वविद्यालय को पुन: प्रारंभ करने के प्रस्ताव तैयार कर सरकार के समक्ष प्रस्तुत किए जा रहे हैं।

छात्रावास परिसर के लिए एससीएसटी, पिछड़े, अल्पसंख्यक एवं दिव्यांग विद्यार्थियों के लिए सरकार परिपत्र जारी करेंगी। प्रदेश के युवाओं को स्वरोजगार उपलब्ध कराने तथा स्वावलम्बी बनाने के उद्देश्य से सभी विश्वविद्यालयों में रोजगार उन्मुक्त दक्षता शिक्षा केन्द्र की स्थापना की जायेगी।

रिक्त पदों पर भर्ती की जायेगी

उन्होंने कहा कि राज्य के सभी महाविद्यालयों में प्राचार्य के रिक्त पदों को भरने के प्रयास किए जा रहे है। दिसम्बर-2018 तक योग्य सह, सहायक आचार्यों के लिए सीनियर, सलेक्शन, पे-बैण्ड के बकाया प्रकरणों की स्क्रिनिंग करवाई जानी है।

आरपीएससी को 830 पदों पर भेजी गई अभ्यर्थना का विज्ञापन शीघ्र जारी होगा तथा शेष चयनित अभ्यर्थियों का पदस्थापन करवाया जायेगा। गैर शिक्षित रिक्त पदों के लिए भर्ती की अभ्यर्थना राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड में भिजवाने के प्रस्ताव तैयार किए जा रहे है।

महाविद्यालय स्तर पर स्थानीय आवश्यकताओं के अनुरूप 60 दिवसीय कार्ययोजना बनाने के लिए भी कहा गया है। राजकीय महाविद्यालयों के भूमि प्रकरणों को भूमि आवंटित करवाई जाएगी।

छात्राओं को मिलेगी नि:शुल्क शिक्षा

उच्च शिक्षा मंत्री ने कहा कि स्कूलों के साथ-साथ कॉलेजों में भी बालिकाओं के लिए नि:शुल्क शिक्षा की व्यवस्था शुरू होगी। बीकानेर जिले में पुराने कॉलेजों व नए कॉलेजों में संसाधन विकसित करने पर कार्य किया जाएगा। कोलायत व श्रीडूंगरगढ़ में नए खोले गए कॉलेजों में भूमि, बिल्डिंग व स्टाफ की व्यस्था की जाएगी।

बालिकाओं को सेनटरी नेपकिन की सुविधा

भाटी ने कहा कि बालिकाओं को सेनटरी नेपकिन सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए 60 दिन में कार्य योजना बनाकर कार्य किया जा रहा है। सेनेटरी नेपकिन वैडिंग मशीन की व्यवस्था प्रदेश के सभी राजकीय महाविद्यालयों में किया जाना है तथा आगामी सत्रों में मुफ्त सेनेटरी नेपकिन की वितरण व्यवस्था शुरू कर दी जाएगी।

प्रतियोगी परीक्षा के लिए कोचिंग की व्यवस्था

उन्होंने बताया कि आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के बच्चों को प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए सरकारी कॉलेजों में कोचिंग सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी। उच्च शिक्षा मंत्री ने कहा कि महाराजा गंगासिंह विश्वविद्वालय के विकास के  प्रयास होंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

*

code