दवाइयों की दुकान अचानक पहुची हेल्थ विभाग की टीम,हुई कार्यवाही

बीकानेर। कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप की खबरों के चलते शहर में चलते मास्क और सैनिटाइजर की मारा-मारी है। सैनिटाइजर तो बाजार से लगभग पूरी तरह से गायब हो गए हैं, वहीं मास्क की जमकर कालाबाजारी हो रही है। शिकायतों के बीच गुरूवार को औषधि निरीक्षक सुभाष चन्द्र मुटरेजा ने पीबीएम के सामने स्थित तीन मेडिकल स्टोर पर बोगस ग्राहक भेजकर मॉस्क मंगवाएं। सीएमएचओ डॉ बी एल मीणा ने बताया कि अम्बे फर्म,कृष्णा मेडिकल स्टोर व बंसल मेडिकोज पर कार्यवाही करते हुए सौ ज्यादा पैकेट जब्त किये गये है। इस कार्यवाही में विनोद जुनेजा, ए सी एल एम,शेखर चंद चौधरी,लोकेश सिंह, जितेन्द्र कुमार बोथरा, औषधि नियंत्रण अधिकारी शामिल रहे। मीणा ने बताया कि इस मेडिकल स्टोर्स पर बिना एम आर पी मास्क पाएं गये। जिनके खिलाफ नियमानुसार जब्त करते हुए विधिक माप विज्ञान (डिब्बा बन्द वस्तुएं) नियम 2011 के तहत नियमानुसार कार्यवाही की गई। जबकि नेशनल ड्रग्स, फ्रेन्ड्स मेडिकोज, स्वास्तिक फार्मा एजेंसी व गुप्ता एजेन्सी पर इस सम्बन्ध में कोई अनियमितता नहीं मिली।सभी औषधि विक्रेताओं को निर्देशित किया जाता है कि हैंड सेनिटाइजर व मास्क की उपलब्धता बनाए रखें व एम आर पी से अधिक मूल्य पर विक्रय नहीं करें तथा बिना लेबल, व बिना एम आर पी अंकित सेनिटाइजर व मास्क का संग्रहण व विक्रय न करने की हिदायत दी है।