मानसिक रोगों पर हुए अनुसंधान पर होगा मंथन,दो दिवसीय कार्यशाला 20 से

0
20

बीकानेर। मानसिक स्वास्थ्य तथा नशामुक्ति विभाग पीबीएम अस्पताल तथा पंडित कृष्ण चंद मेमोरियल न्यूरोसाइंस सेन्टर के संयुक्त तत्वावधान में इंडियन साइेकेट्रिक सोसायटी राजस्थान शाखा की 33 वीं वार्षिक दो दिवसीय कांफे्रस राजसाईकोन का आयोजन 20-21 अक्टुबर को होटल पैराडाईज में होगा। संवाददाता सम्मेलन में आयोजन की जानकारी देते हुए मेडिकल क ॉलेज प्राचार्य डॉ आर पी अग्रवाल ने बताया कि कांफ्रेस में 300 के करीब मनोचिकित्सक भागीदारी करेंगे। इनोवेशन इन साइेकेट्री की धीम पर होने वाली इस कांफ्रेस में मुबंई के डॉ परेश दोशी अवसाद से ग्रसित लोगों का इलाज हेतू डीप ब्रेन स्टीम्यूलेशन पर प्रकाश डालेंगे। वहीं एम्स नई दिल्ली के डॉ रोहित वर्मा ट्रांस केनियल डारेक्ट करंट स्टीम्यूलेशन की कार्यशाला क ा नेतृत्व करेंगे। कार्यशाला के दौरान स्टेम सेल थैरेपी,मानसिक रोगों के निदान हेतू हुए नये अनुसंधान व चुनौतियों,मानसिक स्वास्थ्य देखरेख कानून 2017 पर विस्तृत चर्चा की जायेगी। पत्रकार वार्ता में पीबीएम अधीक्षक डॉ पी के बेरवाल,डॉ अशोक सिंघल भी मौजूद रहे।

ये करेंगे शिरकत
आयोजन अध्यक्ष डॉ के के वर्मा ने बताया कि कार्यशाला में जयपुर से डॉ शिव गौतम,डॉ आर के सोंलकी,चडीगढ़ से डॉ अजीत अवस्थी,मुबंई से डॉ प्रदीप महाजन,ईभास के निदेशक डॉ निमेश देसाई,सिंगापुर से डॉ धनेश गुप्ता,नई दिल्ली से डॉ अतुल अम्बेकर,डॉ एम एस भाटिया,डॉ आर सी जिलोहा,कोटा से डॉ एम एल अग्रवाल,केजीएमसी लखनऊ से डॉ पी के दलाल शिक रत करेंगे।

गुरूओं का होगा सम्मान
आयोजन सचिव डॉ अच्युत त्रिवेदी ने बताया कि किसी निजी अस्पताल के साथ पहली बार आयोजित हो रही इस प्रकार की सेमीनार में गुरूओं का सम्मान किया जायेगा। इसके अलावा मनोरोग के निदान के लिये जागरूकता पैदा करने वाले दो चिकित्सकों को भी सम्मानित किया जायेगा। उन्होंने बताया कि यह एक ऐसी सेमीनार होगी,जो पेपरलैस होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here